वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से 20+ लोगों की मौत

0
1155

कैंट रेलवे स्टेशन के पास एक निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा गिरने से करीब 20+ लोगों की मौत हो गई है जबकि काफी लोग इसके मलबे में अभी भी दबे हुए हैं. ये इलाका काफी व्यस्त रहता है. जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्त भी काफी भीड़ वहां थी.

2009 में हुआ था पुल का शिलान्यास

काशी को जाम से निजात दिलाने के लिए 2009 में तत्कालीन बसपा सरकार ने चौकाघाट लकड़ी टॉल से लहरतारा कैंसर हॉस्पिटल के बीच 2680 मीटर के करीब लंबाई वाले फ्लाई-ओवर का शिलान्यास किया था.

हिंदी अखबार हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक, यह फ्लाई-ओवर अंधरापुल-रोडवेज-कैंट स्टेशन चौराहा होते हुए कैंसर अस्पताल तक बनना था. लेकिन निर्माण एजेंसी ने रोडवेज व पिलर स्टेशन के सामने पिलर खड़ा करने में समस्या का हवाला देते हुए फ्लाई-ओवर को रोडवेज के सामने ही उतार दिया और इस तरह प्रस्तावित दूरी से कम फ्लाई-ओवर का निर्माण 2013 तक पूरा कर लिया गया.

6.30 PM: वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन के पास एक फ्लाईओवर ब्रिज बनाया जा रहा था. बताया जा रहा है कि कुछ गाड़ियां भी इस पुल के नीचे दब गईं. पुल के गिरते ही चीख-पुकार मच गई. आस पास के लोग मदद के लिए दौड़ पड़े. पुलिस को भी फोन किया गया. पुलिस हादसे के काफी देर बाद पहुंची जिसको लेकर लोगों में गुस्सा देखा गया.

6.35 PM: कैंट रेलवे स्टेशन के पास एक निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा गिरने से करीब 12 लोगों की मौत हो गई है जबकि काफी लोग इसके मलबे में अभी भी दबे हुए हैं. ये इलाका काफी व्यस्त रहता है. जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्त भी काफी भीड़ वहां थी.

6.40 PM: मौके पर मौजूद एबीपी न्यूज़ संवाददाता ने बताया कि मलबे में कुछ मजदूरों के भी फंसे होने की आशंका है. हालांकि अभी तक किसी अधिकारी से कोई बात नहीं हो पाई है.

6.45 PM: एनडीआरएफ मौके पर पहुंच गई है और राहत-बचाव का काम किया जा रहा है.

6.47 PM: डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और मंत्री नीलकंठ तिवारी सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर वाराणसी के लिए रवाना हो गए हैं. कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने हादसे पर गहरा दुख जताया है और मृतकों के परिवारों के प्रति सांत्वना जताई है.

6.50 PM: हादसे से चश्मदीद कमल श्रीवास्तव ने बताया कि ये ब्रिज पांच साल से बन रहा था. जिस वक्त हादसा हुआ कमल अपनी बाइक से जा रहे थे. उन्होंने तेज आवाज सुनी और बाइक रोक कर पीछे देखा तो हादसा हो चुका था.

7.00 PM: स्थानीय निवासियों ने बताया कि जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्त यहां पर ट्रैफिक जाम था और भारी भीड़ थी.

7.10 PM: कई वाहन अभी भी इस पुल के नीचे दबे हुए हैं. माना जा रहा है कि मृतकों का आंकड़ा अभी बढ़ सकता है.

7.17 PM: इस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा,”मैंने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जी से पुल गिरने के बारे में बात की है. सरकार हालातों पर निगाह रखे हुए है और पीड़ितों की मदद के लिए काम जारी है.”

7.23 PM: पीएम मोदी ने ट्वीट किया,”हादसे में लोगों ने जान गंवाई है ये जानकर बहुत दुख हुआ. जो लोग इसमें जख्मी हैं वे जल्दी ठीक हो जाएं यही प्रार्थना है. अधिकारियों से इस बारे में बात की है और उनसे कहा है कि पीड़ितों की हर संभव मदद की जाए.”

7.28 PM: सीएम योगी ने घटना पर दुख जताया है. उन्होंने जिला प्रशासन को तेजी से बचाव कार्य करते हुए लोगों की हर संभव मदद करने के निर्देश दिए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बड़ा हादसा हुआ है. यहां कैंट इलाके में पिछले पांच साल से बन रहे फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरने से 12 लोगों की मौत हो गई है, कई लोगों के अभी दबे होने की आशंका है. एनडीआरएफ की टीम मौके पर मौजूद है. राहत एवं बचाव कार्य जारी है. प्रधानमंत्री ने घटना पर दुख जताया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी को मौके पर पहुंचने का आदेश दिया है. बता दें यह फ्लाईओवर कैंट से लहरतारा तक बन रहा है.

7.42 PM: एडीजी खुद मौके पर पहुंच चुके हैं और हालात का जायजा ले रहे हैं. NDRF की टीमें भी गाटर के नीचे से वाहनों को निकालने के काम में लगी हैं.

सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताया है और हर संभव मदद का भरोसा दिया है.

योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान करने के साथ-साथ जांच के लिए उच्च स्तरीय कमेटी बनाने को कहा है. कमेटी को 48 घंटे में रिपोर्ट सौंपनी होगी.

जानकारी के मुताबिक पुल का हिस्सा टूटकर नीचे जा रहे वाहनों पर जा गिरा, जिसके बाद काफी लोग नीचे दब गए. मौके से आ रही तस्वीरों में टूटे हुए हिस्से के नीचे कई गाड़ियां दबी हुई देखी जा सकती हैं. साथ ही मौके पर मौजूद स्थानीय लोग राहत और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं. प्रसाशन और बचाव दल भी घटनास्थल पर पहुंच चुका है.

प्रधानमंत्री मोदी ने भी इस घटना पर दुख जताते हुए ट्वीट कर बताया कि उन्होनें स्थानीय अधिकारों से बात कर पीड़ितों को हर मुमकिन मदद मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं. पीएम ने बताया कि योगी आदित्यनाथ से भी बात हुई है और राज्य सरकार हादसा पर पैनी नजर बनाए हुए है.

योगी आदित्यनाथ ने जानकारी दी है कि उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य जल्द ही वाराणसी पहुंच रहे हैं. जानकारी के मुताबिक NDRF की 2 टीमों को वाराणसी के लिए रवाना किया गया है जबकि एक टीम पहले ही घटनास्थल पर पहुंच गई है. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से हादसे में पीड़ित लोगों की मदद करने की अपील की है.


लोकसभा चुनाव 2014 में वाराणसी से जीत हासिल करके सरकार बनाने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काशी को क्योटो बनाने का वादा किया. इस वादे के तहत पीएम ने वाराणसी को 21वीं सदी के लिए मॉर्डन स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद करते हुए शहर को जापान की धार्मिक राजधानी क्योटो की तर्ज पर विकसित करने का खाका तैयार किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here