रेलवे भर्ती परीक्षा विवाद: छात्रों को राहत, आवेदन के लिए उम्र सीमा 28 से होगी 30

0
5

रेलवे भर्ती बोर्ड ने दसवीं कक्षा के साथ आइटीआइ पास अभ्यर्थियों के लिए बंपर वैकेंसी निकाली थी, जिसमें ग्रुप डी के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम उम्रसीमा 28 साल रखी गई थी, जिससे बिहार के कई जिलों में छात्रों ने आंदोलन शुरु कर दिया था।

लगातार तीन दिनों तक चले छात्रों के आंदोलन के बाद आज रेलवे मंत्री ने आश्वासन दिया है कि उम्र सीमा बढ़ाई जाएगी और अब उम्र सीमा 28 साल से 30 साल कर दी जाएगी। इससे आंदोलन कारी छात्रों को अपनी मांग और जीत पर काफी खुशी हो रही है।

रेलवे की परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे छात्रों को इससे काफी राहत मिली है। छात्रों की मांग और आंदोलन को देखते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रेलमंत्री पीयूष गोयल से बात की। रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि छात्रों की मांग को देखते हुए ग्रुप डी की उम्र सीमा में बदलाव कर उसे 28 से 30 किया जाएगा।

बिहार में चार शहरों में छात्र तीन दिन से लगातार अांदोलन कर रहे थे, उन छात्रों के लिए ये बड़ी राहत भरी खबर है। आरा में छात्रों ने शुक्रवार को रेलवे ट्रैक को जाम कर विरोध प्रदर्शन किया था और कई ट्रेनों को रोक दिया था। आरा के साथ ही औरंगाबाद, पटना और हाजीपुर में भी छात्रों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया था।

छात्रों के विरोध को देखते हुए स्थिति पर नियंत्रण के लिए पुलिस को छात्रों को रोकने के लिए फायरिंग भी करनी पड़ी थी। रविवार को औरंगाबाद में आरपीएफ के पोस्ट निरीक्षक सत्येंद्र कुमार, पूर्वी केबिन के स्टेशन मास्टर राजीव कुमार,रफीगंज सीओ के चालक अजय कुमार समेत आधे दर्जन लोग घायल हो गए थे।

उधर, रेलवे ग्रुप डी की बहाली में आइटीआइ अनिवार्य किए जाने के विरोध में युवकों ने हाजीपुर स्टेशन पर भी ट्रैक को जाम किया था। इस कारण वहां भी रेल परिचालन बाधित रहा। राजधानी पटना के पटना-क्यूल रेल खंड के अथमलगोला स्टेशन पर भी बेरोजगार युवकों ने हंगामा किया। उन्‍होंने वहां हावड़ा-राजगीर ट्रेन को रोककर विरोध जताया। इस दौरान आधे घंटे तक रेल परिचालन ठप रहा।

नियुक्ति में आइटीआइ प्रमाण पत्र की अनिवार्यता से बिहार में बेरोगजारों का आक्रोश बीते शुक्रवार को आरा में भी फूटा था। शुक्रवार की सुबह छात्र आरा स्टेशन पहुंचे युवकों ने रेलवे बहाली की आयु सीमा में कोई बदलाव नहीं करने और ग्रुप डी की बहाली से टेक्निकल कोर्स हटाने की मांग की थी।

बता दें कि रेलवे में बड़े पैमाने पर लोको पायलट एवं तकनीशियनों समेत निचले स्तर के करीब 90 हजार पदों के लिए आवेदन मंगाया है। रेल मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इन पदों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 10वीं तथा आइटीआइ का प्रमाणपत्र है।

रेल मंत्रालय की सबसे बड़ी नियुक्ति प्रक्रिया

बता दें कि रेल मंत्रालय की ग्रुप सी में लेवल एक और दो की भर्तियों के लिए यह सबसे बड़ी नियुक्ति प्रक्रिया है। इसमें लोको ड्राइवर और टेकनीशियन के अलावा लेवल दो में फिटर, क्रेन चालक, लोहार और कारपेंटर तथा लेवल एक में गैंगमैन, प्वाइंट मैन, गेटमैन और सहायक के पद हैं।

उम्र सीमा

उम्मीदवार रेलवे भर्ती बोर्ड की वेबसाइट के जरिये ही आवेदन कर सकते हैं। ग्रुप सी लेवल टू के लिए आयु सीमा 18 से 28 रखी गई है जबकि लेवल वन के लिए आयु सीमा 18 से 31 रखी गई है।

पदों के लिए ये हैं वेतनमान

इन पदों के वेतनमान के लिए कहा गया है कि सातवें वेतन आयोग के अनुरूप लेवल टू के वेतनमान में 19900 से 63200 और लेवल वन के लिए 18000 से 56900 का वेतनमान होगा। कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट अप्रैल-मई 2018 में हो सकता है। दोनों लेवल के उम्मीदवारों के आवेदन 5 और 12 मार्च, 2018 तक स्वीकार किए जाएंगे। गौरतलब है कि समूह डी को ही समूह सी में लेवल वन कर दिया गया है।

योग्यता और आवेदन की आखिरी तारीख

बयान में बताया गया है कि इन पदों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 10वीं तथा आईटीआई (इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट सर्टिफिकेट) का प्रमाणपत्र है। लेवल एक के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 5 मार्च तथा स्तर दो के लिए अंतिम तिथि 12 मार्च है। आवेदन के लिए इंडियन रेलवे की ऑफिशियल वेबसाइट indianrailwayrecruitment.in पर जाकर नौकरी के लिए आवेदन दे सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here